Shine Delhi

Home

44 वीं राष्ट्रीय सब जूनियर वॉलीबोल चैंपियनशिप 2022-23 में दिल्ली व राजस्थान बने चैंपियन


  • नई दिल्ली (राजेश जिज्ञासु)

दिल्ली वॉलीबॉल एसोसिएशन द्वारा दिल्ली के कड़क़ड़ डूमा स्थित लक्ष्मी पब्लिक स्कूल में 44वें सब जूनियर (गर्ल्स-बॉयज) नेशनल वॉलीबॉल चैंपियनशिप -2022-23 का आयोजन किया गाया। 3 से 8 जनवरी 2023 तक खेली गईॎ। इस चैंपियनशिप के बालिका वर्ग मुकाबलों में यूपी की लड़कियों को हरा कर राजस्थान की लड़कियां चैंपियन बनी। वहीं बालक वर्ग में गुजरात टीम को हराकर दिल्ली के लडकों ने चैंपियनशिप के खिताब पर कब्जा किया।

चैंपियनशिप के समापन अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि पधारे भारतीय वॉलीबॉल फैडरेशन के सीईओ रामअवतार सिंह जाखड़, दिल्ली वॉलीबॉल एसोसिएशन के अध्यक्ष कुलदीप वत्स, अनिल चौधरी, संजीव शर्मा, कुबीर सिंह गहलोत, राष्ट्रीय खिलाड़ी किरण कुमार सिंह आदि सभी अतिथियों ने विजेता टीमों को ट्रॉफी प्रदान की। दिल्ली वॉलीबॉल संघ के अध्यक्ष कुलदीप वत्स के अनुसार विजेता टीमों को 30-30 हजार और उपविजेता टीमों को 20-20 हजार रुपए की इनामी राशि वॉलीबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉ अच्युत सामंत की तरफ से दी गई।

बालिका वर्ग के फाइनल में राजस्थान ने उत्तर प्रदेश टीम को 3-1 (15-25, 25-20, 25-20, 25-19) से मात दी। वही बालक वर्ग में दिल्ली ने गुजरात को 3-1 (25-21, 25-21, 22-25, 25-22) से पछाड़ कर खिताब अपने नाम किया।

वॉलीबॉल फैडरेशन अपने खिलाडियों के लिए निष्पक्ष भाव से निरंतर कार्य कर रही है : रामअवतार सिंह जाखड़

इस दौरान उपस्थि खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए रामअवतार सिंह जाखड़ ने कहा कि सभी खिलाडियों का खेल बहुत सराहनीय रहा, हम खिलाड़ियों विश्वास दिलाते हैं कि वॉलीबॉल फैडरेशन उनके हित केलिए कार्य कर रही है वो सब के लिए निषपक्ष भाव से उनके लिए रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए सदैव तत्पर हैं। हम चाहते हैं कि आप देश के लिए खेले ताकि देश की प्रतिष्ठा बढ़े और आप अपना बेहतर करें।

बेहतर खिलाड़ी वही, जो हार व जीत दोनों ही परिस्थितियों में धैर्य बनाए रखे : कुल्दीप वत्स

दिल्ली वॉलीबॉल एसोसिएशन के अध्यक्ष कुलदीप वत्स ने दिल्ली टिम को बधाई देते हुए कहाकि सभी राज्यों से आए बालक-बालिकाओं ने इतनी सर्दी में मैदान पर आकर जो रोमांचक खेल प्रदर्शन किया वह बहुत सरहनीय है, कोई खिलाड़ी किसी से कम नहीं, हार जीत जीवन का हिस्सा है। एक बेहतर खिलाड़ी वही है जो हार व जीत दोनों ही परिस्थितियों में धैर्य बनाए रखता हो।

इसके साथ ही कुल्दीप वत्स ने लक्ष्मी पब्लिक स्कूल का धन्यवाद करते हुए कहाकि यह स्कूल बधाई का पात्र है, क्योंकि इस स्कूल के सात छात्र दिल्ली टीम में खेले हैं और स्कूल प्रांगण में ही राष्ट्रीय चैंपियनशिप के आयोजन सभी सुविधाँ प्रदान की हैं।
दिल्ली वॉलीबॉल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष संजीव शर्मा ने दिल्ली टीम को बधाई देते हुए कहाकि लड़कों ने जिस चुनौतीपूर्ण माहौल में शानदार खेल प्रदर्शन किया है। मैं कामना करता हूं कि ये सभी बच्चे आगे चलकर भारतीय टीम का हिस्सा बने और देश का नाम रौशन करें।

दिल्ली वॉलीबॉल एसोसिएशन के सचिव कुलबीर सिंह गहलोत ने बताया कि चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए देश के विभिन्न राज्यों से 800 से अधिक खिलाडी व ऑफिशियल शामिल हुए हैं, इस चैंपियनशिप में लड़कों की 25 टीम और लड़कियों की 22 टीमों ने अपना शानदार प्रदर्शन किया।

समापन समारोह में वॉलीबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया के महासचिव अनिल चौधरी, सीईओ राम अवतार सिंह जाखड़, फेनसिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के महासचिव राजीव मेहता, डीडीसीए के निदेशक श्याम सुंदर आदि अनेक गणमान्य लोगों ने खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाया।


Leave a Comment

Your email address will not be published.