Shine Delhi

Home

श्रीसम्मेद शिखर जी को पवित्र तीर्थ घोषित करने की मांग को लेकर लाल किला मैदान में महा अर्चना और विश्वशांति महायग्घ


नई दिल्ली : ऐतिहासिक लाल किला के विशाल मैदान में आज सुबह से ही देश विदेश से आए करीब पचास हजार से ज्यादा जैन समाज के स्त्री पुरूष बच्चे मुनि श्री विहर्ष सागर जी के आवाहन पर श्री सम्मेद शिखरजी को पर्यटन केंद्र न बनाकर पवित्र तीर्थ स्थल घोषित करने की मांग को लेकर एकत्रित हुए। इस मांग को समर्थन देने आए पूर्व केंद्रीय मंत्री एवम सांसद हर्षवर्धन, सांसद मनोज तिवारी, पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य, कार्यक्रम के महा संयोजक टीनू जैन, लवी जैन, सुनील जैन मनोज जैन आदि जैन समाज के अनेक दिग्गज नेता भी उपस्थित हुए।

श्री सम्मेद शिखरजी जहां का हर कन्न पवित्र होता है इस पवित्र भूमि को पर्यटन स्थल न बना कर तीर्थ स्थल घोषित करने और यहां मांस मदिरा का प्रयोग पूर्ण रूप से बंद करने की जैन समुदाय की मांग को समर्थन देते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने कहा हम हर संभव प्रयास करेंगे की इस पवित्र भूमि को वहां की सरकार से तीर्थ स्थल घोषित कराया जाए इस कार्य में उनकी पार्टी जैन समुदाय के साथ है, वहीं सांसद मनोज तिवारी ने जन समुदाय को यकीन दिलाया कि अभी उन्होंने प्रधान मंत्री मोदी जी से इस बारे में चर्चा तक नही की है लेकिन हम श्री सम्मेद शिखरजी को पवित्र तीर्थ स्थल घोषित करने की मांग को पूर्ण समर्थन देने के साथ साथ अगर जरूरत हुई तो लोकसभा में इस बारे में विधेयक भी पेश करेंगे।

लालकिला मैदान में मुनि श्री विहर्ष सागर जी के सानिध्य में यहां मौजूद जैन समुदाय के करीब पचास हजार लोगो ने जिनेंद्र महार्चना की और विश्व शांति के लिए महायघ भी किया। इस अवसर पर श्री पी एन सिंह को मुनि श्री द्वारा गौरव सम्मान से समानित किया गया।

करीब तीन घंटे से अधिक समय तक चले इस कार्यक्रम का मंच संचालन विजेन्द्र जैन ने किया इस अवसर पर मुनि श्री विभत्स में भी प सागर जी ने आवाहन किया कि जब तक श्री सम्मेद शिखरजी को अयोध्या, काशी, मथुरा की तर्ज पर तीर्थ नगरी घोषित नही किया जाएगा समस्त जैन समुदाय शांति पूर्वक अपना आंदोलन जारी रखेगा।


Leave a Comment

Your email address will not be published.