Shine Delhi

Home

युवा ही समाज परिवर्तन के सबसे बड़े योद्वा : युवसत्ता


राजसमंद : नेशनल फाउंडेशन फॉर कम्युनल हार्मनी, ग्लोबल पीस फाउंडेशन और युवसत्ता (यूथ फॉर पीस) चंडीगढ़, अणुव्रत विश्व भारती, राजसमंद और ग्लोबल पीस फाउंडेशन, यूएसए के नेतृत्व में शुक्रवार को 25 से 27 नवंबर तक चलने वाले तीन दिवसीय राष्ट्रीय युवा शांति शिविर का आगाज हुआ। शिविर में राजस्थान, बिहार, मध्य प्रदेश, गुजरात, दिल्ली, उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों के एक सौ से अधिक युवा भाग ले रहे है।

युवसत्ता (यूथ फॉर पीस) चंडीगढ़ के फाउंडर प्रमोद शर्मा ने कहा कि युवा ही समाज परिवर्तन के सबसे बड़े योद्धा है। युवा वर्ग सत्य, अहिंसा, आध्यात्मिक और नैतिक मूल्यों को ग्रहण कर समाज में बदलाव ला सकते है। युवाओं को सदैव सादगी, दया,सच्चाई और अहिंसा के खुशी मंत्र का पालन करना चाहिए। अहिंसा एक पद्धति और नीति नही है, बल्कि यह जीवन का एक महत्वपूर्ण एवं प्रभावशाली आधार भी है। अहिसां को जीवन में अपनाकर एक श्रेष्ठ नागरिक बना जा सकता है।

.राजसमंद में राष्ट्रीय युवा शांति शिविर के उद्घाटन अवसर पर उपस्थित अतिथि।

उन्होने कहा कि भारत के चारों कोनों में इस तरह के शिविर आयोजित हो रहे है जिसके माध्यम से ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ के सदियों पुराने भारतीय लोकाचार को बढ़ावा दिया जा रहा है।

इस राष्ट्रीय युवा शांति शिविर में भाग लेने वाले युवाओं से आव्हान किया कि वे आत्मनिर्भर बनकर देश दुनिया में शांति अहिंसा के मार्ग पर चलकर अच्छे कार्य करें। जिससे कि बढ़ते शहरीकरण को रोका जा सके। युवा वर्ग को ग्रामीण क्षेत्र से काम की शुरुआत करके आगे बढ़ना चाहिए ताकि गरीब  व आमजन की समस्याओं का सही ढंग से समाधान हो सके।

अणुव्रत विश्व भारती के प्रेसिडेंट संचय जैन ने शिविर में उपस्थित युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में युवाओं को सत्य अहिंसा के मार्ग पर चलकर दीन हीनों की सेवा करनी चाहिए। तभी हमारे गांव से लेकर देश तक की तरक्की संभव है। जिसमें युवाओं की बड़ी भूमिका है। युवाओं का आज सभी क्षेत्रों में प्रतिनिधित्व है। जिसके परिणाम भी आज हमारे सामने है।

राष्ट्रीय युवा शांति शिविर में आपसी संवाद करते हुए युवा।

पहले दिन शिविर में लक्ष्मण भारतीय, रवि मुनिसवाय, रिटायर्ड अल्ताफ हुसैन, लोकेश शर्मा, धु्ब प्रसाद ने युवाओं के साथ संवाद किया।

इस तीन दिवसीय शिविर में बहुत सारे संवादात्मक विचार-विमर्श, महान गांधीवादियों के साथ प्रेरक बैठक, श्रमदान सहित विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन होगा।

युवाओं ने की चर्चा : राष्ट्रीय युवा शांति शिविर में देशभर से आए युवाओं ने अपने —अपने क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों की चर्चा की। जिसमें युवाओं ने शांति, अहिंसा पर आग काम करके समुदाय व देश को इस दिशा में आगे ले जाया जाए इस पर विस्तार से चर्चा की।

उन्होंने किया राष्ट्रीय युवा शांति शिविर का आगाज : युवसत्ता (यूथ फॉर पीस) चंडीगढ़ के फाउंडर प्रमोद शर्मा, अणुव्रत विश्व भारती के संचय जैन, राजसमंद ने किया।

राष्ट्रीय युवा शांति शिविर में होंगे विभिन्न आयोजन : राष्ट्रीय युवा शांति शिविर में तीन दिन तक विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन होगा। जिसमें पहले दिन युवाओं का संवाद, बालिकाओं और महिलाओं के अधिकार व सम्मान के लिए पीस पैलेस से बस स्टेंड राजसमंद तक कैंडल लाइट मार्च, चिल्ड्रन पीस पैलेस से मार्च की शुरुआत,26 नवंबर 2022 को प्रातः योगा, पीपलांतरी गांव में ग्रामीणों के द्वारा किए जा रहे कार्य का भ्रमण, युवाओं का आपसी सवांद। सांय को सांस्कृतिक कार्यक्रम, 27 नवंबर को मेडिटेशन एवं योग, आगे किए जाने वाले कार्य पर चर्चा इत्यादि गतिविधियां होगी।

दीवार पर रंगों के माध्यम से शांति व अहिंसा का संदेश देते युवा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.