Shine Delhi

Home

नवश्री धार्मिक लीला में दिखेगी अमृत महोत्सव की थीम तो भगवान के वस्त्रों और लीला स्थल, स्टेल में दिखेगी तिरंगे की छटा


नई दिल्ली : सन् 1958 से हो रही दिल्ली की सबसे पुरानी नवश्री धार्मिक लीला में इस वर्ष कई बेहतरीन नई हाईटैक तकनीकों को उपयोग होगा। रामलीला के प्रस्तुतिकरण में विशाल एलईडी स्क्रीनों द्वारा रामभक्त रामायण के प्रसंगों के दृश्यों का साक्षात आनंद ले सकेंगें। वहीं सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरों से पूरे परिसन में निगरानी रखी जाएगी।

कमेटी के चेयरमैन श्री बलराम गर्ग ने बताया कि इस वर्ष पूरे भारत में स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूण होने पर अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है, तो नवश्री धार्मिक लीला कमेटी भी विशेष रूप से अपनी रामलीला राष्ट्र को समर्पित शीर्षक के अनुरूप् मनाएगी, जिसकी विशेष झलकियां मंच के डिजाइन एवं उसमें बने इंडिया गेट अशोक के चिह्न एवं गणेश जी के हाथ में राष्ट्रीय ध्वज आदि से लेकर कलाकारों की नवीन पोशाकें प्रांगण की साज-सज्जा एवं लाइट्स भी कहीं न कहीं राष्ट्रीय ध्वज के रंग को प्रदर्शित करेंगी।

लीला कमेटी के प्रधान श्री हरिचंद अग्रवाल ने बताया कि लीला में पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी स्टेज को एकदम नया रूप दिया गया है। वहीं लीला मंचन करने वाले कलाकारों की पोशाक भी आकर्षक रंगों में दिखेगी। 1 अक्टूबर को लीला स्थल पर हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन भी किया जा रहा है, जिसमें देश के जानेमाने कवि हिस्सा लेंगें।

महासचिव श्री जगमोहन गोटेवाला ने बताया कि लीला में इस बात लीला में अवलोकन के लिए कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमति सोनिया गांधी एवं श्री राहुल गांधी को आमंत्रित किया गया है। साथ ही केंद्रीय मंत्री एवं दिल्ली सरकार के अन्य मंत्री विधानसभा अध्यक्ष समेत अनेक गणमान्य नेतागण लीला का अवलोकन करने पधारेंगें।

नवधार्मिक लीला कमेटी द्वारा पर्यावरण को बचाने के लिए ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जाएगा। लीला में आने वाले अतिथ्यिं व आम जन को तुलसा जी के पौधे वितरित किए जाएंगें।

लीला कमेटी के प्रचार मंत्री राहुल शर्मा के अनुसार लीला में ज्यादा से ज्यादा युवाओं को जोड़ा जा सके तो इसके लिए हमने नए प्रयास किए हैं, जिससे वे अपनी संस्कृति के बारे में जान सकें। इस बार लीला मंचन को एक नया रूप देने की कोशिश की गई है, जिससे युवा अपनी संस्कृति और धार्मिक परंपरा का स्मरण कर सकें और उन्हें कुछ नया देखने और सीखने का अवसर मिले। यही नहीं लीला के प्रचार-प्रसार के लिए सोशल मीडिया का प्रयोग किया जाएगा, जिसमें लाखों लोगों तक रामलीला के वीडिया रील्स के माध्यम से व्हाट्सअप द्वारा भेजे जाएंगें। वहीं रामलीला की वीडियोस यूट्यूब, फेसबुक, इंस्टाग्राम प्लेटफार्मस अपलोड की जाएंगी।

कमेटी के निर्माण मंत्री श्री अशोक मित्तल ने बताया कि हमारी रामलीला में भव्य राम दरबार लगाया जाएगा। जिससे लोग लीला स्थल पर भगवान का आशीर्वाद लें सकें। लीला में इस बार भी एसी फूड कोर्ट बनाया गया है।


Leave a Comment

Your email address will not be published.