Breaking News

कोरिया की संस्कृति, इतिहास और पर्यटन को बढ़ावा देती : कोरिया-भारत मैत्री निबंध प्रतियोगिता...

News Detail Trending News

नई दिल्ली : 29 राज्यों और 7 संघ शासित प्रदेशों के 853 स्कूलों के 20,874 छात्रों ने पाँचवी कोरिया-भारत मैत्री निबंध प्रतियोगिता में भाग लेकर पूरे भारत में दक्षिण कोरिया के बारे में ज्ञान और रुचि को फैला दिया। दसियों हजारों भारतीय छात्रों को इस निबंध प्रतियोगिता के माध्यम से कोरिया गणराज्य की संस्कृति, इतिहास और पर्यटन के आकर्षणों के बारे में पता लगा।

यह अंतरराष्ट्रीय विषयों पर स्कूल के छात्रों के लिए भारत की सबसे बड़ी निबंध प्रतियोगिता है। इसे कोरियाई सांस्कृतिक केंद्र भारत द्वारा आयोजित किया गया। पुरस्कार कोरिया गणराज्य के कार्यकारी राजदूत, माननीय श्री ली हाई हवांग द्वारा दिए गए। सीनियर ग्रुप के शीर्ष चार विजेताओं को कोरिया में प्रत्येक के लिए 6 दिन और 5 रातों के लिए मुफ्त यात्रा मिली। शेष 40 विजेताओं को कुल पुरस्कार राशि 1 लाख 19 हजार (1,19, 000 रुपये) और ट्राफियां मिली। इस साल उत्कृष्ट प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए कोरिया की एक अतिरिक्त मुफ्त यात्रा को पुरस्कार के रूप में जोड़ा गया। तो इस वर्ष तीन के स्थान पर, चार शीर्ष विजेताओं को पुरस्कार के रूप में कोरिया का अनुभव मिल रहा है। विजेता सितंबर 2017 के आखिरी सप्ताह में कोरिया का दौरा करेंगे।

यह वार्षिक प्रतियोगिता पांचवीं बार आयोजित की गई। पिछले साल की तरह, इस साल की प्रतियोगिता में वरिष्ठ और जूनियर समूहों के लिए अलग-अलग विषय और पुरस्कार थे।

जूनियर ग्रुप में 7 से 9 कक्षाएं शामिल थीं और इसका विषय था- ‘मुझे दक्षिण कोरिया के बारे में क्या पसंद है?’

वरिष्ठ समूह में 10 से 12 कक्षाएं शामिल थीं और इसका विषय था-‘मैं दक्षिण कोरिया क्यों जाना चाहता हूं?’

भारत के सभी 29 राज्यों और 7 संघ शासित प्रदेशों के छात्रों ने इस प्रतियोगिता में भाग लिया, जिससे यह सही मायने में अखिल भारतीय प्रतियोगिता बन गयी। एक अनोखी और अभूतपूर्व परियोजना, भारतीय कोरिया मैत्री निबंध प्रतियोगिता, भारतीय छात्रों से निबंध के रूप में दिल-छूने वाले भाव को लाने में सफल रही। कुछ लोगों ने भावनात्मक रूप से लिखा, कुछ ने खूबसूरत छवियां बनाई, कुछ ने कविता का इस्तेमाल किया, लेकिन निश्चित रूप से सभी ने अपने दिलों के भावों को व्यक्त किया।

विजेता मिजोरम, ओडिशा, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, गुजरात, असम, पंजाब और भारत के कई अन्य हिस्सों से लाजपत नगर, दिल्ली में स्थित कोरियाई सांस्कृतिक केंद्र भारत में आये। विजेता छात्रों, उनके माता-पिता और प्रिंसिपलों ने मीडिया के साथ बातचीत की और इस प्रतियोगिता के बारे में दिलचस्प कहानियां बताई। कोरियाई सांस्कृतिक केंद्र के निदेशक, श्री किम कुम-प्योंग, ने भारतीय छात्रों की मेहनत की सराहना करते हुए उन्हें प्रमाणपत्र दिए। 

एक समर्पित वेबसाइट www.koreaindiaessay.com ने प्रतिभागियों को एक ही स्रोत से सभी प्रासंगिक जानकारी प्राप्त करने में मदद की।

विजेता वरिष्ठ समूह (कक्षा 10-12) / प्रथम पुरस्कार: पी सी लॉलीअनतुलंगी / पुरस्कार : 6 दिन / 5 रातों के लिए दक्षिण /  कोरिया की निःशुल्क यात्रा / स्कूल: सेंट पॉलस उच्च माध्यमिक विद्यालय, आईजोल, मिजोरम।

दूसरा पुरस्कार (2-ए) : वृत्ति वांकानी / पुरस्कार: 6 दिन / 5 रातों के लिए दक्षिण कोरिया की निःशुल्क यात्रा / स्कूल: केआईआईटी इंटरनेशनल स्कूल, भुवनेश्वर, ओडिशा।

दूसरा पुरस्कार (2-बी) : अनुष्का गुप्ता / पुरस्कार : 6 दिन / 5 रातों के लिए दक्षिण कोरिया की निःशुल्क यात्रा / स्कूल: बाल भारती पब्लिक स्कूल, पीतमपुर, नई दिल्ली।

दूसरा पुरस्कार (2-सी) : पूनम डे / पुरस्कार : 6 दिन / 5 रातों के लिए दक्षिण कोरिया की निःशुल्क यात्रा / स्कूल: आर्मी पब्लिक स्कूल नारंगी, गुवाहाटी, असम।

तीसरा पुरस्कार (3-ए) : लालरिंदिकी / पुरस्कार : 5,000 रुपये / स्कूल: सेंट पॉलस उच्च माध्यमिक विद्यालय, आईजोल, मिजोरम।

तीसरा पुरस्कार (3-बी) : मैरी चिंगथियानहिह लैंगेल / पुरस्कार : 5,000 रुपये / स्कूल: वायुसेना स्कूल, सुब्रोतो पार्क, नई दिल्ली।

विजेता जूनियर समूह (कक्षा 7-9) / प्रथम पुरस्कार : ओम संजेश कासरखेड़कर / पुरस्कार: 20,000 रुपये / स्कूल: सरस्वती विश्व विद्यालय नेशनल स्कूल, पुणे, महाराष्ट।

दूसरा पुरस्कार (2-ए) : प्रियंशी श्रीवास्तव / पुरस्कार: 10,000 रुपये / स्कूल: वनिता पब्लिक स्कूल, वाराणसी, उत्तर प्रदेश।

दूसरा पुरस्कार (2-बी) : एनिमान नस्कर / पुरस्कार: 10,000 रुपये / स्कूल: मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल, सेकेंड 46, गुरुग्राम, हरियाणा।

दूसरा पुरस्कार (3-ए) : सिल्वान झा / पुरस्कार: 5,000 रुपये / स्कूल: तपोवन इंटरनेशनल स्कूल, मेहसाणा, गुजरात।

दूसरा पुरस्कार (3-बी) : ताराशा सागर / पुरस्कार: 5,000 रुपये / स्कूल: एमिटी इंटरनेशनल स्कूल, पुष्प विहार, दिल्ली।

दूसरा पुरस्कार (3-सी) : स्वेनम निराव कुमार पटेल / पुरस्कार: 5,000 रुपये / स्कूल: तपोवन इंटरनेशनल स्कूल, मेहसाणा, गुजरात।

विशेष पुरस्कार - वरिष्ठ समूह (2,000 रुपये प्रत्येक को 17 पुरस्कार)

विशेष पुरस्कार - जूनियर समूह (1000 रुपये प्रत्येक को 15 पुरस्कार)

 214